×

गोदरेज समूह के रियल्टी व्यवसाय के लिए भविष्य का रोडमैप

Torbit - May 24, 2024 - - 0 |
Pirojsha Godrej

गोदरेज समूह में सौहार्दपूर्ण उत्तराधिकार विभाजनजिसने नए पीढ़ी के नेताओं पिरोजशा गोदरेज और न्यारिका होल्कर को पारिवारिक व्यवसायों के शीर्ष पर स्थापित किया हैसमूह के रियल एस्टेट व्यवसाय के लिए अच्छा संकेत है।

विनोद बहल

गोदरेज समूह में  पारिवारिक व्यवसाय निपटान के हिस्से के रूप में, आदि गोदरेज और उनके भाई नादिर गोदरेज को गोदरेज प्रॉपर्टीज सहित पांच सूचीबद्ध समूह संस्थाओं पर पूर्ण स्वामित्व प्राप्त होगा, वहीं जमशेद गोदरेज और उनकी बहन स्मिता गोदरेज को गैर-सूचीबद्ध करीबी स्वामित्व वाली कंपनियों गोदरेज और बॉयस पर पूर्ण नियंत्रण प्राप्त होगा। जमशेद और स्मिता की गैर-सूचीबद्ध गोदरेज एंड बॉयस के माध्यम से रियल एस्टेट में रुचि है, जबकि आदि और नादर सूचीबद्ध गोदरेज प्रॉपर्टीज को नियंत्रित करते हैं।

समूह के व्यवसायों को विभाजित करने वाले गोदरेज परिवार के समझौते के अनुसार, गोदरेज प्रॉपर्टीज चलाने वाले समूह के गुट- गोदरेज इंडस्ट्रीज ग्रुप (जीआईजी) और गोदरेज एंटरप्राइजेज ग्रुप (जीईजी) गोदरेज ब्रांड का उपयोग करते हुए उनके गैर-प्रतिस्पर्धा समझौते के 6 वर्षों के दौरान या उसके बाद भी रियल एस्टेट कारोबार में प्रतिस्पर्धा नहीं करेंगे।

अब तक गोदरेज एंड बॉयस के पास समूह की भूमि संपत्ति का स्वामित्व था। वहीं गोदरेज प्रॉपर्टीज, प्रॉपर्टी के विकास के व्यवसाय में लगी हुई थी। लेकिन अब पारिवारिक व्यवसाय के पुनर्गठन के बाद, गोदरेज एंड बॉयस में एग्जक्यूटिव डायरेक्टर और भावी मैनेजिंग डायरेक्टर उम्मीदवार, न्यारिका होलकर, रियल एस्टेट व्यवसाय बनाने के लिए स्वतंत्र हैं। हालाँकि, गोदरेज बॉयस, जिसमें जमशेद और स्मिता की रियल एस्टेट में रुचि है, एक गैर-प्रतिस्पर्धा समझौते के तहत 6 साल के लिए नई जमीन खरीदने से प्रतिबंधित है। हालाँकि इसके पास अपने रियल एस्टेट कारोबार को सूचीबद्ध करने का अधिकार बरकरार है। समझौते के हिस्से के रूप में, उनके पास विक्रोली, मुंबई में 3400 एकड़ भूमि पर विशेष निर्माण अधिकार होंगे। गोदरेज एंड बॉयस के तहत इस भूमि बैंक की बिक्री क्षमता 3 ट्रिलियन रुपये है।

पारिवारिक समझौते को देखते हुए, पिरोजशा गोदरेज की अध्यक्षता में गोदरेज प्रॉपर्टीज का भविष्य उज्ज्वल है, खासकर इसलिए क्योंकि इसने पिछले कुछ वर्षों में दर्ज की गई शानदार वृद्धि के साथ खुद को एक मजबूत ब्रांड के रूप में स्थापित किया है। गोदरेज प्रॉपर्टीज ने वित्त वर्ष 24 में बिक्री बुकिंग में 84 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की और 22500 करोड़ रुपये तक पहुंच गई और वित्त वर्ष 25 में 25000 करोड़ की बिक्री हासिल करने का लक्ष्य रखा है।

गोदरेज प्रॉपर्टीज नए भूमि पार्सल में अपने निवेश के साथ आगे बढ़ रही है और ये जमीन के नए पार्सल भविष्य की वृद्धि को बढ़ावा देंगे। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज के अनुसार, वित्त वर्ष 25 को देखते हुए, नई परियोजनाओं में 20000 करोड़ रुपये की अनुमानित वृद्धि के साथ, अनुमानित भूमि पूंजीगत व्यय 5000 करोड़ रुपये होने का अनुमान है। चेयरपर्सन पिरोजशा गोदरेज के अनुसार, गोदरेज प्रॉपर्टीज ने मजबूत मांग का लाभ उठाते हुए बिक्री बुकिंग में 20 प्रतिशत की वृद्धि हासिल करने के लिए इस वित्तीय वर्ष में प्रमुख शहरों में 30000 करोड़ रुपये की आवासीय परियोजनाएं शुरू करने की योजना बनाई है। हालाँकि निवेशक उच्च भूमि अधिग्रहण लागत और नकदी प्रवाह दबाव के कारण इसकी संभावना से सावधान

गोदरेज प्रॉपर्टीज की सफलता की इस कहानी का श्रेय कंपनी के एसेट लाइट भूमि बैंकिग माडल को दिया जा सकता है, जो मजबूत विकास के लिए एकमुश्त भूमि खरीद के बजाय भूमि मालिकों के साथ संयुक्त विकास पर आधारित है। पिरोजशा गोदरेज भविष्य में विकास हासिल करने के लिए इस आजमाए और परखे हुए मॉडल को जारी रखना चाहते हैं, खासकर जब जमीन की कीमतें आसमान छू रही हों। अब गोदरेज समूह की उत्तराधिकार योजना के अनुसार, पिरोजशा गोदरेज 2026 में नादिर गोदरेज के बाद जीआईजी के एग्जक्युटिव वाईस चेयरमैन होंगे और इस प्रकार से सशक्त पिरोजशा, गोदरेज प्रॉपर्टीज के भविष्य के विकास के लिए एक वास्तविक संपत्ति साबित होंगे।

Leave a Reply