×

भूमि के सौदों में तेजी से आवासीय रियल्टी को मिला बढ़ावा

Torbit - May 24, 2024 - - 0 |

शीर्ष शहरों में भूमि सौदों की अधिकता 2024 में भी जारी है, विशेष रूप से एनसीआर और एमएमआर में सबसे अधिक प्रमुख सौदे होंगेजिससे आवासीय रियल एस्टेट में उछाल आ रहा है।

आवासीय खंड भारतीय रियल एस्टेट बाजार को आगे बढ़ा रहा है और यह तेजी से हो रहे भूमि सौदों के रूप में प्रतिबिंबित हो रहा है। उच्च आवासीय मांग के बीच, कई बड़े और सूचीबद्ध डेवलपर्स और अन्य संस्थाओं ने जमीन खरीदना जारी रखा है। पूरे भारत में प्रमुख स्थानों में भूमि के सौदे करने में अग्रणी भूमिका निभाने में आवासीय, कॉमर्शियल, रिटेल, औद्योगिक, लॉजिस्टिक्स के अलावा वेयरहाउसिंग का भी योगदान है।

एनारॉक डेटा यह इंगित करता है कि विभिन्न डेवलपर्स और संस्थाओं ने वित्तीय वर्ष 2023-24 में लगभग 101 अलग-अलग भूमि सौदे किये है, जो देश भर में कुल मिलाकर लगभग 2,989 एकड़ है। इसके विपरीत, वित्त वर्ष-2022-23 में विभिन्न शहरों में 88 भूमि सौदे हुए हैं जो लगभग 1,886 एकड़ है।

एनारॉक ग्रुप के चेयरमैन अनुज पुरी के अनुसार, दिलचस्प बात यह है कि वित्त वर्ष-24 में कुल भूमि सौदों में से लगभग 1,135 एकड़ के 83 से अधिक सौदे अकेले शीर्ष शहरों में हुए।”   शेष 18 सौदे, 1,853 एकड़ से अधिक के लिएअहमदाबादअयोध्याजयपुरनागपुरमैसूरलुधियाना और सूरत जैसे विभिन्न टियर और शहरों में किए गए। टियर और शहर एक बार फिर से निस्संदेह विकास के इंजन के रूप में उभरे हैं और इसके लिए उनके तेजी से बेहतर होते बुनियादी ढांचे और विकास के अवसरों को श्रेय दिया जाना चाहिए।”

शीर्ष 7 शहरों में भूमि सौदों में, 313+ एकड़ के लिए 29 सौदों के साथ एनसीआर उच्च स्थान पर है, इसके बाद लगभग 157+ एकड़ के लिए 19 सौदों के साथ एमएमआर दूसरे स्थान पर है। विशेष रूप से, कुल भूमि क्षेत्र के संदर्भ में, बेंगलुरु में 490+ एकड़ के लिए 14 सौदे हुए – जो सभी शीर्ष 7 शहरों में सबसे अधिक है।

वित्त वर्ष 2024 में सौदों की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है – वित्त वर्ष 23 में 1,886+ एकड़ के लिए 88 सौदों से बढ़कर चालू वित्तीय वर्ष में 2,989+ एकड़ के लिए 101 सौदे हुए हैं। कुल क्षेत्रफल के लिहाज से वित्त वर्ष 23 की तुलना में वित्त वर्ष 2024 में करीब 58 फीसदी ज्यादा जमीन खरीदी गई है।

पुरी कहते हैं, लगभग 4.93 लाख इकाइयों परशीर्ष शहरों में आवासीय बिक्री ने वित्त वर्ष 2024 में एक नया शिखर बनाया है।” ”विशेष रूप से, बड़े और सूचीबद्ध डेवलपर्स द्वारा अधिक बिक्री की गई है, और इस प्रकार प्रमुख शहरी माईक्रो मार्केट्स में उनके लिए जमीन खरीदने की वजह स्पष्ट हो जाती है। परिणामस्वरूप, पिछले वित्तीय वर्ष में कुछ बहुत प्रमुख भूमि सौदे हुए।”

प्रस्तावित विकास

  • वित्त वर्ष-24 में कुल भूमि सौदों में2,252 एकड़ जमीन के लिए लगभग 80 अलग-अलग सौदे हुए जिसके तहत प्रस्तावित आवासीय, प्लॉटेड विकास और टाउनशिप परियोजनाएं हैं। आवासीय श्रेणी में, पुणे, बेंगलुरु, एमएमआर, हैदराबाद, एनसीआर, चेन्नई, मैसूरु, अयोध्या और जयपुर में सौदे हुए हैं।
  • प्रस्तावित प्लॉट विकास परियोजनाओं के सौदे सोनीपत, नागपुर, सूरतऔर अहमदाबाद जैसे शहरों में हुए, जबकि टाउनशिप परियोजनाओं के सौदे अहमदाबाद, बेंगलुरु, ठाणे, लुधियाना और गाजियाबाद में किए गए हैं।
  • वाणिज्यिक और रिटेल क्षेत्र में कुल मिलाकर42 एकड़ से अधिक के 4 अलग-अलग सौदे हुए। इनमें से 3 वाणिज्यिक विकास के लिए थे – एक-एक गुरुग्राम, नोएडा और मुंबई में – और एक रिटेल सौदा ठाणे में बंद हो गया था।
  • पुणे, मुंबईऔर लुधियाना सहित शहरों में मिश्रित उपयोग के विकास के लिए 4 अलग-अलग सौदों के अंतर्गत कम से कम 79 एकड़ जमीन निर्धारित की गई है।
  • गुजरात, चेन्नई, नवी मुंबई, नागपुर और कटक में औद्योगिक, आईटी पार्क और लॉजिस्टिक्स पार्क के लिए5 अलग-अलग सौदों में लगभग। 164 एकड़ जमीन के सौदे हुए।

भूमि के सौदों में तेजी से आवासीय रियल्टी को मिला बढ़ावा

Leave a Reply