×

विकास की तीव्र गति के पथ पर

Torbit - April 27, 2024 - - 0 |
Irfan Razack - Prestige Estates Projects Ltd

विस्तार और मजबूत लॉन्च पाइपलाइन को पूरा करने लिए वित्तपोषण में वृद्धि से राजस्व में वृद्धि होगी, जिससे प्रेस्टीज एस्टेट्स के चर्चित विकास की गति सुनिश्चित होगी  

 बिक्री-पूर्व वृद्धि की गति को बनाए रखने के लिए प्रेस्टीज प्रॉपर्टीज लिमिटेड नए बाजारों में विस्तार कर रही है और कंपनी ने वित्त वर्ष 2024 के 9 महीनों में 163 बिलियन रुपये की बुकिंग हासिल की है, जो कि पिछले वर्ष की तुलना में 81 प्रतिशत अधिक है और साथ ही इसने अपने शुरुआती पूर्ण-वर्ष के 160 बिलियन रुपये के लक्ष्य को पार कर लिया है। दिसंबर 2023 तक 160 बिलियन रुपये की चालू परियोजना सूची के साथ, कंपनी वित्त वर्ष 2024 में 200 बिलियन रुपये के अपने संशोधित बिक्री-पूर्व लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सही रास्ते पर आगे बढ़ रही है है।

वित्त वर्ष 26 तक 250 बिलियन रुपये की पूर्व-बिक्री हासिल करने के लिए रोडमैप तैयार करते हुए, कंपनी बेंगलुरु, एमएमआर, हैदराबाद, एनसीआर, पुणे और चेन्नई के छह प्रमुख बाजारों पर नजर गड़ाए हुए है जो इसके निर्धारित लक्ष्य तक पहुंचने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। कंपनी बेंगलुरु में अपने लक्ष्य तक पहुंच चुकी है और साथ ही मुंबई और हैदराबाद में भी सफलतापूर्वक प्रवेश कर लिया है।

हाल ही में, बेंगलुरु के व्हाइटफील्ड में एक लग्जरी आवासीय परियोजना- सोमरविले लॉन्च की गई थी लेकिन अन्य तीन बाजारों से योगदान नगण्य बना हुआ है। हालांकि मोतीलाल ओसवाल ब्रोकरेज को उम्मीद है कि इसमें जल्द ही बदलाव आएगा क्योंकि कंपनी ने चेन्नई और एनसीआर में परियोजनाओं की एक स्वस्थ पाइपलाइन बनाई है और वित्त वर्ष 25 में कुछ परियोजनाएं शुरू करने का लक्ष्य बना रही है।

एनसीआर में, प्रेस्टीज एस्टेट्स ने हाल ही में 10 मिलियन वर्ग फीट में एक एकीकृत टाउनशिप ‘प्रेस्टीज सिटी’ के निर्माण के लिए इंदिरापुरम में 468 करोड़ रुपये में 62.5 एकड़ प्राइमलैंड खरीदा है। इसके साथ ही 140 बिलियन रुपये की संयुक्त राजस्व क्षमता वाली दो आगामी परियोजनाओं (नोएडा और दिल्ली में एक-एक) के साथ यह कंपनी के लिए एक मजबूत विकास के उत्तोलक के रूप में कार्य कर सकता है। इसी तरह, कंपनी के पास चेन्नई में दो परियोजनाओं में 6 एमएसएफ पाइपलाइन है और यह पुणे में एक बड़ी परियोजना हासिल करने के अंतिम चरण में है।

प्रेस्टीज की कुल परियोजना पाइपलाइन 700 बिलियन रूपये  (इसकी मौजूदा परियोजनाओं में इन्वेंट्री सहित) है और यह निकट भविष्य में अपनी मजबूत वृद्धि गति को बनाए रखने में सक्षम हो सकती है। मोतीलाल ओसवाल ब्रोकरेज को उम्मीद है कि प्रेस्टीज एस्टेट्स की प्री-सेल्स वित्त वर्ष 26 तक 15 प्रतिशत के सीएजीआर के दर से बढ़ बढ़कर 260 बिलियन रूपए  हो जाएगी।

प्रेस्टीज एस्टेट्स के रेंटल पोर्टफोलियो में वर्तमान में 11 एमएसएफ का ऑपरेशनल ऑफिस और रिटेल पोर्टफोलियो है, जिसकी कुल रेंटल क्षमता 4.3 बिलियन रुपये है। वित्त वर्ष 24 में, कंपनी को 8 एमएसएफ ऑफिस एसेट्स (तीसरे क्वार्टर में 3.6 एमएसएफ डिलीवर किया गया) डिलीवर करने की उम्मीद है, जिससे प्रेस्टीज एस्टेट के शेयर में एग्जिट रेंटल बढ़कर 7 बिलियन रुपये हो जाएगा।

कंपनी को अपने  21 एमएसएफ चल रहे कार्यालय और रिटेल परियोजनाओं और अतिरिक्त 23 एमएसएफ आगामी परियोजनाओं के साथ, इन परियोजनाओं के वित्त वर्ष 28 के अंत तक वितरित होने के बाद किराये की आय बढ़कर 38 बिलियन रुपये होने की उम्मीद है। प्रेस्टीज एस्टेट्स के पास अगले चार वर्षों में उपरोक्त परियोजनाओं पर खर्च करने के लिए 137 बिलियन रुपये का शेष पूंजीगत व्यय है, जो 30-35 बिलियन रुपये के वार्षिक नकद व्यय को दर्शाता है।  कंपनी की विस्तार रणनीति की सफलता मुंबई में अपनी दो बड़ी कार्यालय परिसंपत्तियों को पट्टे पर देने पर निर्भर करती है, जिनसे 20 अरब रुपये किराया प्राप्त करने की क्षमता है।

प्रेस्टीज एस्टेट्स द्वारा वित्त वर्ष 26 से सकारात्मक फ्री कैश फ्लो (एफसीएफ) उत्पन्न करना शुरू करने की उम्मीद है।   वित्त वर्ष 24 की 9वीं तिमाही में इसने 37 बिलियन रुपये का परिचालन नकदी प्रवाह (ओसीएफ) उत्पन्न किया और नए भूमि निवेश, पूंजीगत व्यय और ब्याज लागतों में 53 बिलियन रुपये खर्च किए, जिससे दिसंबर 2023 तक शुद्ध ऋण 15 बिलियन बढ़कर 70 बिलियन रुपये हो गया।

वार्षिक ओसीएफ रन-रेट बढ़कर 60 बिलियन रुपये हो गया है और आवासीय और वाणिज्यिक क्षेत्र में आगे के पैमाने के साथ, यह वित्त वर्ष 26 तक 95 बिलियन रुपये से अधिक तक बढ़ने की उम्मीद है, जो भूमि और पूंजीगत व्यय में 80-85 बिलियन रुपये के निवेश को पूरा करने के लिए पर्याप्त होगा। इस प्रकार, वित्त वर्ष 25 तक शुद्ध ऋण में 20-25 बिलियन रुपये की वृद्धि होने और 90-95 बिलियन रुपये के शिखर पर पहुंचने की संभावना है, जिसके परिणामस्वरूप शुद्ध ऋण-से-इक्विटी 0.7x हो जाएगी, जो इतने बड़े पैमाने पर काम करने वाली कंपनी के लिए चिंता का विषय नहीं होना चाहिए।

प्रेस्टीज एस्टेट्स ने एक आवासीय प्लेटफॉर्म सौदे में प्रवेश की घोषणा की है, जिसके तहत अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी (एडीआईए) और कोटक एआईएफ कंपनी की आगामी आवासीय परियोजनाओं में 20 बिलियन रुपये का निवेश करेंगे।     निवेश का उपयोग कंपनी की आगामी आवासीय पाइपलाइन से पहले से ही पहचानी गई चार ग्रीनफील्ड परियोजनाओं के विकास के लिए किया जाएगा और ये बेंगलुरु, एमएमआर, एनसीआर और गोवा में स्थित हैं। इन परियोजनाओं में 14 एमएसएफ की विकास क्षमता है और अनुमानित टॉप-लाइन 180 बिलियन रुपये है।

हॉस्पिटैलिटी पोर्टफोलियो के मुद्रीकरण से प्रेस्टीज एस्टेट्स को मूल्य अनलॉकिंग का मौका मिल सकता है। कंपनी वर्तमान में हॉस्पिटैलिटी पोर्टफोलियो की 1,500 प्रमुख इकाइयों का संचालन करती है, जो अगले तीन से चार वर्षों में दोगुनी हो जाएगी। एक बार स्थिर हो जाने पर, यह खंड वर्तमान में 9 बिलियन रूपये की तुलना में 18 बिलियन रूपये (पीईपीएल शेयर) का राजस्व उत्पन्न कर सकता है। कंपनी प्रबंधन वर्तमान में अपने हॉस्पिटैलिटी पोर्टफोलियो का मुद्रीकरण करने का मूल्यांकन कर रहा है, जिससे कुछ मूल्य अनलॉकिंग हो सकती है। इसके अलावा, यह कदम इसके खातों से 9 बिलियन सकल ऋण को भी कम कर सकता है और हॉस्पिटैलिटी खंड में 17 बिलियन रूपये शेष पूंजीगत व्यय से जुड़े नकदी प्रवाह तनाव को कम कर सकता है।

प्रेस्टीज एस्टेट्स अपनी परियोजना पाइपलाइन के विस्तार के माध्यम से अपने आवासीय खंड पर भविष्य की वृद्धि दृश्यता प्रदान करता है। साथ ही इसकी प्रमुख वाणिज्यिक परियोजनाओं पर प्रगति के साथ, आगे मूल्य वृद्धि आसन्न है। कंपनी जिसने वित्त वर्ष 24 के 9 महीनों में 16300 करोड़ रुपये की बिक्री दर्ज की, वह वित्त वर्ष 24 के 20000 करोड़ रुपये के बिक्री लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए ट्रैक पर है।

Leave a Reply