×

दशक के निचले स्तर पर पहुंची बिना बिकी इन्वेंट्री

Torbit - February 03, 2024 - - 0 |

दिल्ली-एनसीआर वर्ष 2023 में शीर्ष 7 शहरों में सबसे जीवंत आवासीय बाजारों में से एक बना रहा। पिछले वर्ष  दिल्ली-एनसीआर में मजबूत बिक्री के बावजूद, डेवलपर्स ने पिछले बिना बिके स्टॉक को खत्म करने के लिए नई आपूर्ति को रोक दिया था, जिससे इस बाजार की इन्वेंट्री में उल्लेखनीय कमी आई है।

नवीनतम एनारॉक रिसर्च के डेटा से यह पता चलता है कि दिल्ली-एनसीआर की बिना बिकी इन्वेंट्री में 23 प्रतिशत की गिरावट आई है – वर्ष 2022 के अंत तक मौजूद लगभग 1,23,692 इकाइयां वर्ष 2023 के अंत तक घटकर लगभग 94,803 इकाइयां रह गईं। यह शीर्ष 7 शहरों में बिना बिके आवास के स्टॉक में सबसे अधिक वार्षिक गिरावट है। उल्लेखनीय है कि एनसीआर का बिना बिका स्टॉक इस समय दशक के निचले स्तर पर है, जो पिछले दस वर्षों में पहली बार एक लाख इकाईयों से नीचे आ गया है।

संतोष कुमार, वाइस चेयरमैन, एनारॉक ग्रुप के अनुसार दिल्ली-एनसीआर में वर्ष 2023 में 36,735 इकाईयां लांच की गईं, जबकि लगभग 65,625 इकाईयों की जबरदस्त बिक्री हुई। गौरतलब है कि डेवलपर्स ने जानबूझकर इस क्षेत्र में नई आपूर्ति को रोक कर रखा ताकि वे परियोजना को पूरा करने पर ध्यान केंद्रित रख सकें और साथ ही इस प्रकार अपने पिछले बिना बिके स्टॉक को भी कम कर सकें। यहां मौजूदा बिना बिका स्टॉक अन्य रियल्टी हॉटस्पॉट एमएमआर से काफी नीचे है, जहां उपलब्ध स्टॉक बढ़कर 2 लाख इकाईयों से अधिक हो गया है। एनसीआर की बिना बिकी इन्वेंट्री पुणे और हैदराबाद सहित अन्य शीर्ष शहरों से भी नीचे पहुंच गई है। निश्चित रूप से यह एक उल्लेखनीय उपलब्धि है, यह देखते हुए कि एनसीआर ऐतिहासिक रूप से शीर्ष 7 शहरों में सबसे अधिक बिना बिके स्टॉक सूची में से एक था।

दिल्ली-एनसीआर की बिना बिकी इन्वेंट्री (इकाईयां)

बिना बिकी इन्वेंटरी – शहरवार ब्यौरा

 बिना बिकी इन्वेंटरी - शहरवार ब्यौरा

 स्रोत: एनारॉक रिसर्च

 एनसीआर में वर्ष 2022 के अंत तक लगभग 1.24 लाख इकाईयों का का बिना बिका स्टॉक था जो वर्ष 2023 के अंत तक घटकर लगभग 94,803 यूनिट रह गया।

  • एनसीआर में कुल बिना बिकी इन्वेंट्री में से, गुरुग्राम में वर्तमान में लगभग37,575 इकाइयों का अधिकतम स्टॉक है, हालांकि इसमें 27% की वार्षिक कमी दर्ज की गई है। वर्ष 2022 के अंत में, इस शहर की बिना बिकी इन्वेंट्री लगभग 51,312 इकाइयां थी।

 

  • ग्रेटर नोएडा इसके बाद आता है। यहां वर्ष2022 के अंत में बिना बिकीं 26,096 इकाइयों की तुलना में वर्ष 2023 के अंत तक लगभग 18,825 इकाइयाँ रह गईं। इस प्रकार ग्रेटर नोएडा अपने स्टॉक को सालाना आधार पर 28 फीसदी तक कम करने में सफल रहा।

 

  • गाजियाबाद में बिना बिके स्टॉक में लगभग 19 प्रतिशत की गिरावट देखी गई। यहां वर्ष2022 के अंत तक 15,475 इकाइयों की तुलना में वर्ष 2023 के अंत तक 12,546 बिना बिकी इकाइयाँ रह गई।

 

  • नोएडा में बिना बिके स्टॉक में15 प्रतिशत की वार्षिक गिरावट दर्ज करते हुए एक वर्ष पहले की 10,171 बिना बिकी इकाइयों की तुलना में वर्ष 2023 के अंत तक लगभग 8,658 इकाइयों का बिना बिका स्टॉक रह गया।

 

  • वर्ष2023 के अंत तक दिल्ली, फ़रीदाबाद और भिवाड़ी को मिलाकर लगभग 17,199 बिना बिकी इकाइयाँ धी। यह टैली एक साल पहले लगभग 20,638 इकाइयाँ थीं जिसमें 17 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई।

Leave a Reply

TRENDING

1

Tech Intervention Transforming Real Estate

Dileep PG - February 23, 2024

2

Realty Foreseen 2024

Sanjeev Kathuria - February 11, 2024

3

Why Organizations Select Hybrid Data Centres

Jaganathan Chelliah - January 27, 2024

4

5

6

    Join our mailing list to keep up to date with breaking news