×

नोएडा और ग्रेटर नोएडा: घर खरीदारों की पहली पसंद

Torbit - March 01, 2024 - - 0 |

नोएडा एक्सटेंशन और ग्रेटर नोएडा वेस्ट एनसीआर में नोएडा और ग्रेटर नोएडा के ट्विन सिटीज हॉट वैल्यू-ओरिएंटेड  रियल एस्टेट के माइक्रो-मार्केट के रूप में उभरे हैं, जो उच्च मात्रा में प्रोपर्टीज के लेनदेन और पंजीकरण मूल्य दर्ज कर रहे हैं। ग्रेटर नोएडा में सौदों के आधार पर देखा जाए तो निराला एस्टेट परियोजना शीर्ष पर है।

स्क्वायर यार्ड्स डेटा इंटेलिजेंस और आईजी रजिस्ट्रेशन, उत्तर प्रदेश द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, ग्रेटर नोएडा में 2023 की चौथी तिमाही में घर खरीदारों की रुचि में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है, जिसमें 3179 करोड़ रुपये की राशि के 7481 लेनदेन दर्ज किए गए हैं।

वॉल्यूम और इकाइयों के मामले में निराला वर्ल्ड सबसे आगे है, जिसमें 203 करोड़ रुपये की 371 इकाइयों के साथ पंजीकरण हुआ, इसके बाद अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में ऐस ग्रुप ने 181 करोड़ रुपये की कुल 259 इकाइयों का पंजीकरण दर्ज किया।

डेटा स्रोत: आईजीआर, यूपी, स्क्वायरयार्ड्स.कॉम

गौर्स ग्रुप और गुलशन होम्स ने भी अपनी इन्वेंट्री के लिए अच्छा प्रदर्शन किया, जो उनकी संपत्ति पंजीकरण और बिक्री मूल्य से स्पष्ट है।

अनुपम रस्तोगी, सह-संस्थापक और सीबीओ-एनआरआई, स्क्वायर यार्ड ने कहा,“नोएडा और ग्रेटर नोएडा में वह सब कुछ है जो एक आधुनिक महानगरीय शहर का प्रतीक है। उत्कृष्ट सड़कें और मेट्रो कनेक्टिविटी, मजबूत बुनियादी ढांचा, समृद्ध व्यवसाय और आईटी हब और सामर्थ्य ने इन जुड़वां शहरों को सशक्त रियल एस्टेट हॉटस्पॉट बना दिया है। नया जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा इस क्षेत्र की संभावनाओं के लिए मददगार साबित हुआ है, जो इसे रियल एस्टेट में तेज-वृद्धि लाने के लिए तैयार कर रहा है। इसके अलावा, हर वर्ग के घर खरीदारों के लिए घरों का एक सही मिश्रण है, जिसने खरीदारों का ध्यान आकर्षित किया है, मजबूत मांग को बढ़ावा दिया है और साथ ही भविष्य के विकास के अवसरों का मार्ग प्रशस्त किया है।”

परियोजनाओं के संदर्भ में, ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में सबसे अधिक संख्या में पंजीकरण हुए। निराला वर्ल्ड और ऐस ग्रुप प्रोजेक्ट चार्ट में प्रमुख कंपनियों के रूप में सामने आए। ग्रेटर नोएडा में निराला एस्टेट में 377 पंजीकृत इकाइयों के साथ 206 करोड़ रुपये प्राप्त हुए, जबकि ऐस डिविनो ने 274 पंजीकरणों के साथ 194 करोड़ रुपये जमा किए।

 

डेटा स्रोत: आईजीआर, यूपी, स्क्वायरयार्ड्स.कॉम

दिल्ली पहले ही संतृप्ति (सैचुरेशन) स्तर पर पहुंच चुकी है और घर खरीदार उच्च कीमत की वजह से खुद को गुरुग्राम बाजार में निवेश के लिए असक्षम पा रहे हैं, नोएडा और ग्रेटर नोएडा मूल्य-उन्मुख रियल एस्टेट गंतव्यों के रूप में उभरे हैं। प्रतिस्पर्धी अचल संपत्ति की कीमतों और चुनने के लिए विभिन्न प्रकार के आवास प्रारूपों की विशेषता के साथ, ये जुड़वां शहर समझदार घर खरीदारों के लिए ढेर सारे विकल्प पेश करते हैं।

डेटा स्रोत: आईजीआर, यूपी, स्क्वायरयार्ड्स.कॉम

हालाँकि, ग्रेटर नोएडा ने अपने समकक्ष की तुलना में बड़ी बढ़त हासिल की, जो इस क्षेत्र में 94% लेनदेन के द्वारा स्पष्ट है। ग्रेटर नोएडा वेस्ट और नोएडा एक्सटेंशन में रेडी-टू-मूव, किफायती और लक्जरी अपार्टमेंट और अच्छी सोसायटी, कम घनत्व, शांत वातावरण और शैक्षणिक संस्थानों, वाणिज्यिक केंद्रों और कार्यालय परिसरों की निकटता के कारण सबसे अधिक लेनदेन देखा गया है।

इसके विपरीत, नोएडा के माईक्रो मार्केट्स में शहर में आपूर्ति में कमी और नोएडा के परिधीय क्षेत्रों और ग्रेटर नोएडा में अधिक प्रीमियम लेकिन किफायती विकल्पों की उपलब्धता के कारण लेनदेन में गिरावट देखी गई।

कुल मिलाकर, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के बाकी उपनगरों की तुलना में बेहतर बुनियादी ढांचे के कारण नोएडा और ग्रेटर नोएडा का रियल्टी परिदृश्य बहुत बदल गया है। शहरों के विस्तारित मेट्रो नेटवर्क, बढ़ते व्यापार और आईटी केंद्रों और मूल्य-उन्मुख रिटर्न देने के लिए प्रसिद्ध अच्छी गुणवत्ता वाली आवासीय परियोजनाओं ने सामूहिक रूप से इस क्षेत्र को उत्तर भारत में एक प्रमुख रियल्टी केंद्र के रूप में स्थापित किया है।

Leave a Reply

TRENDING

1

2

3

Unveiling Soon: Torbit 2023

Torbit - March 13, 2024

4

Of Ladders and Snakes: A CEO’s Odyssey in Giga Projects

Khair Ull Nissa Sheikh - March 10, 2024

5

Tech Intervention Transforming Real Estate

Dileep PG - February 23, 2024

6

Realty Foreseen 2024

Sanjeev Kathuria - February 11, 2024

    Join our mailing list to keep up to date with breaking news