×

टॉर्बिट ट्रेंड ट्रैकर: ब्रांडेड विला मार्केट के लिए बेहतरीन समय

Torbit - March 30, 2024 - - 0 |

सर्विस्ड लिविंग की लोकप्रियता में वृद्धि के साथ, किराये के ब्रांडेड विला की लोकप्रियता भी बढ़ रही है। चूंकि अधिक से अधिक लोग कई प्रकार की सुख-सुविधाओं के साथ विशाल वैयक्तिकृत स्थानों को पसंद कर रहे हैं,किराये के ब्रांडेड विला के लिए आने वाला समय आशाजनक है।

हाल  के वर्षों में भारत में वैकल्पिक आतिथ्य में वृद्धि देखी गई है। हालांकि मुख्य आधार आतिथ्य की तुलना में यह अभी भी छोटे स्तर पर ही है और भारत में छुट्टियां मनाने के लिए किराये के सर्विस अपार्टमेंट, निजी गेस्टहाउस और शिविर जैसे वैकल्पिक सेवा की उपलबधता बढ़ रही है। इसमें से, किराये के विला सहस्राब्दी पीढ़ी सहित शहरी भारतीयों के नए पसंदीदा हैं। विला की अवधारणा की विवेचना करें तो इसमें पारंपरिक विला, विंटेज बंगले, फार्म स्टे, बागान बंगले, पारंपरिक हवेली आदि शामिल हैं।

एक्सॉन डेवलपर्स की एक शोध रिपोर्ट के अनुसार , भारत में ब्रांडेड रेंटल विला बाजार का आकार 2023 में 329.6 मिलियन अमेरिकी डॉलर का रहा है। जिसमें अवकाश गृह, फार्म स्टे, बागान बंगले, समुद्र तट के घर, पुरानी हवेली आदि सहित वैकल्पिक आतिथ्य खंड आश्चर्यजनक गति से बढ़ रहे हैं। यह खंड 2028 तक 33% से अधिक की सीएजीआर से बढ़ते हुए 1377 मिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंचने के लिए तैयार है।

इस रिपोर्ट के अनुसार जहां मुख्य आतिथ्य को मजबूती मिलती रहेगी, द्वीतीय घर और हॉलिडे विला जैसे वैकल्पिक खंड भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।  अंकित कंसल, एम डी, एक्सॉन डेवलपर्स कहते हैं, इस तेज बढ़ोत्तरी के पीछे मुख्य कारणों में से एक यह है कि हम में से कई लोग अब होटल या रिसॉर्ट में 250 वर्ग फुट का कमरा नहीं चाहते हैं, बल्कि, वे 4 बेडरूम वाले विला में खास तौर पर प्रदान की जा रही शीर्ष स्तरीय सुविधाओं के साथ अधिक वैयक्तिकृत स्थान चाहते हैं। भारत में नए मिलेनियल सहित बहु-पीढ़ी वाले परिवारों में भी रहने के लिए सेवा-सुविधाओं वाले किराए के घरों की मांग बढ़ रही है।

हालाँकि इसमें कुछ नया तो नहीं है, लेकिन महामारी ने वैकल्पिक प्रवास की लोकप्रियता को आगे बढ़ाया है। कंसल के अनुसार, रिमोट वर्किंग, डिजिटल पर्यटन, वर्ककेशन आदि में वृद्धि ने बहुत से लोगों को रमणीय स्थलों में निवास करने और निर्बाध रूप से काम करने की स्वतंत्रता दी है।

जबकि किराये के विला यात्रियों को क्यूरेटेड विशेष अनुभव देते हैं, यह घरों के मालिकों के लिए भी बहुत उपयोगी है। किसी ब्रांडेड ऑपरेटर के साथ जुड़कर, घर के मालिक अपने राजस्व को कई गुना बढ़ा सकते हैं। ऑपरेटर समर्थन और ऑन-ग्राउंड परिचालन सहायता के साथ परियोजना की विपणन क्षमता में काफी सुधार होगा और इसलिए राजस्व में वृद्धि होगी।

हाल के वर्षों में स्टे विस्टा, सैफ्रन स्टे, लोहोनो स्टे, ईको स्टे आदि जैसे कई प्लेटफॉर्म बाजार में छाए हुए हैं। ये विशिष्ट कंपनियां पूरे भारत में, कूर्ग के कॉफी उत्पादन वाले राज्यों से लेकर गुलमर्ग के सुंदर हिमालयी पहाड़ों तक, शीर्ष गुणवत्ता वाली किराये की संपत्तियों का अधिग्रहण, पुन: पैकेज, विपणन और संचालन करते हैं।

देश के मुख्य होटल समूह भी इस क्षेत्र की ओर आकर्षित हो रहे हैं। ताज होटल्स ने अमा स्टेज़ के फ्लैगशिप के तहत इस सेगमेंट में आक्रामक प्रवेश किया है, जिसकी लगभग 100 इकाइयाँ हैं। समूह की योजना 2026 तक लगभग 400 अतिरिक्त इकाइयाँ जोड़ने की है।

ब्रांडेड रेंटल विला विभिन्न शैलियों, लिंग और पीढ़ियों में लोकप्रियता हासिल कर रहे हैं। ब्रांडेड किराये के विला के विकास के कई चालक हैं। आज, 2.5 करोड़ सेकेंड होम प्रॉपर्टी में आसानी से निवेश करने वाले बाजार का आधार काफी बढ़ चुका है। बड़ी संख्या में लोग, विशेष रूप से मिलेनियल्स प्रीमियम होमस्टे जिनमें वैयक्तिकृत, विशिष्ट, आरामदायक, संतुष्टिदायक और समृद्ध सुविधाएं मिलती हैं में रहना  चाहते  है। वहीं एनआरआई व्यक्तिगत उपयोग और निवेश के लिए विला, हॉलिडे होम, सर्विस्ड अपार्टमेंट आदि में तेजी से निवेश कर रहे हैं। शहरी निवासी तेजी से ब्रांडेड किराये के विला पसंद कर रहे हैं क्योंकि वे स्पा, वेलनेस सेंटर, फिटनेस स्टूडियो, इन्फिनिटी पूल, ऑर्गेनिक रेस्तरां आदि जैसी क्यूरेटेड सेवाओं के साथ शांत वातावरण में समग्र कल्याण के अनुभव की तलाश में हैं। कॉर्पोरेट भी ब्रांडेड किराये के विला में कॉर्पोरेट रिट्रीट की मेजबानी करना पसंद कर रहे हैं। .

लेकिन इन विकास के चालकों के बावजूद, समग्र बाजार  का दोहन अभी भी पूरी तरह से नहीं हो पाया है।भारत में लगभग 10,000 विला हैं जिनका उपयोग आतिथ्य उद्देश्यों के लिए भी किया जा सकता है। हालाँकि, एक्सॉन डेवलपर्स की शोध के अनुसार, 2023 के अंत तक ब्रांडेड विला की संख्या सिर्फ 1150 थी तो जो इस मांग की मात्र 11.5 प्रतिशत आपूर्ति प्रदान कर रहा है।

जहां तक किराये के विला के भौगोलिक विस्तार का सवाल है तो 57 प्रतिशत किराये के विला दूरस्थ स्थान पर स्थित हैं, जबकि मात्र 31 प्रतिशत शहर की सीमाओं के भीतर हैं। वहीं किराये के विला की मौजूदा आपूर्ति का बारह प्रतिशत शहर के केंद्र से कम दूरी की यात्रा पर स्थित है। भारत में शहरी केंद्रों के शांत पिछले छोर भी नए पसंद के तौर पर उभरे हैं क्योंकि वे आराम करने और तरोताजा होने के लिए शांतिपूर्ण माहौल प्रदान करते हैं और यह उन्हें एक आदर्श सप्ताहांत बिताने के लिए प्रवेश द्वार के रूप में स्थापित करता है। यही वजह है कि कर्जत, अलीबाग, पनवेल, मुलशी, नंदी हिल्स आदि में कई नई परियोजनाएं आ रही हैं।

एक्सॉन रिसर्च के अनुसार, अगले 5 वर्षों में ब्रांडेड सेगमेंट में 4,000 विला के शामिल होने की संभावना है। कुछ कारक भविष्य की वृद्धि में सहायक होंगे। प्रौद्योगिकी प्रॉपर्टी मालिकों, ऑपरेटरों, पर्यटकों/किराएदारों और अन्य सहायक कंपनियों (एफ एंड बी, वेलनेस कंपनियों, आदि) को सबसे पारदर्शी तरीके से एक साथ लाकर स्थान बदल रही है। साथ ही बड़े डेवलपर अब हिमालय के हिल स्टेशनों और साथ ही तटीय भारत के एकांत समुद्री तटों, सह्याद्रि के पहाड़ी रास्तों, अरावली पहाड़ों के पिछले छोरों सहित देश के कई हिस्सों में सामुदायिक शैली की परियोजनाओं का निर्माण कर रहे है।

Leave a Reply

TRENDING

1

2

3

Unveiling Soon: Torbit 2023

Torbit - March 13, 2024

4

Of Ladders and Snakes: A CEO’s Odyssey in Giga Projects

Khair Ull Nissa Sheikh - March 10, 2024

5

Tech Intervention Transforming Real Estate

Dileep PG - February 23, 2024

6

Realty Foreseen 2024

Sanjeev Kathuria - February 11, 2024

    Join our mailing list to keep up to date with breaking news